GST No. 07AAECN7759E1Z7
+91-11-23461600
info[at]nhidcl[dot]com
राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अवसंरचना विकास निगम लिमिटेड
सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार
 

हमारा संगठन

हमारे बारे में


राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अवसंरचना विकास निगम लिमिटेड, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार की एक पूर्ण स्वामित्व वाली कंपनी है। कंपनी पड़ोसी देशों के साथ,अंतर्राष्ट्रीय सीमा साझा करने वाले देश के हिस्सों में अंत: परस्पर संबद्ध (इंटर-कनेक्टिंग) सड़कों सहित राष्ट्रीय राजमार्ग एवं रणनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण सड़कों को उन्नत बनाने, सर्वेक्षण करने, स्थापना करने, डिजाइन करने, निर्माण करने, प्रचालन करने, अनुरक्षण करने एवं उन्नयन करने का कार्य करती है। इस प्रकार क्षेत्रीय संपर्क बढ़ने से सीमापार व्या़पार एवं वाणिज्य को प्रोत्साहन मिलेगा तथा भारत की अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं को सुरक्षा प्रदान करने में सहायता मिलेगी। इससे एक अधिक मजबूत एवं आर्थिक दृष्टि से समृद्ध दक्षिण एवं दक्षिण पूर्व एशिया का निर्माण हो सकेगा। इसके साथ-साथ, स्थानीय जनता को समग्र आर्थिक लाभ तथा आस-पास के क्षेत्रों को बेहतर तरीके से मुख्य धारा में सम्मिलित करने में सहायता मिलेगी। शुरुआत में लगभग 10 हजार किलोमीटर औसत लंबाई की सड़क को इस कंपनी के माध्यम से विकसित करना निश्चित किया गया है। कम्पनी द्वारा भौगोलिक प्रदेश की जटिलताओं जैसे मुद्दों का समाधान करने और सुरक्षा अभिकरणों के साथ समन्वय संबंधी वृहत अपेक्षाओं को पूरा करने की दृष्टि से आवश्यकतानुरूप और विशेषीकृत कौशल निर्माण की परिकल्पना की गई है। कम्पनी उन अवसरंचना परियोजनाओं, जिनमें शहरी अवसंरचना तथा शहरी अथवा नगरीय परिवहन तो शामिल होगा ही परंतु यह उसी तक सीमित नहीं होगा, का निर्माण कार्य हाथ में लेने और समस्त प्रकार का अवसंरचना विकास करने वाले अभिकरण के रूप में कार्य करने का भी प्रयास करेगी। कम्पनी द्वारा बहुपक्षीय संगठनों और संस्थाओं सहित अन्य राष्ट्रों और उनके अभिकरणों के साथ तकनीकी जानकारियां साझा करने और व्यवसाय विकास हेतु अवसरों में वृद्धि करने की परिकल्पना की गई है।

कंपनी उत्तर बंगाल तथा भारत के उत्तर-पूर्व क्षेत्र में लगभग 500 किलोमीटर लम्बी सड़कों का विस्तार करके अंतर्राष्ट्रीय व्यापार गलियारे (इंटरनेशनल ट्रेड कॉरीडोर) के सड़क संपर्क तथा कार्यक्षमता में सुधार करने का भी प्रस्तााव करती है। इससे दक्षिण एशिया उप-क्षेत्रीय आर्थिक सहयोग (एसएएसईसी) के अन्य सदस्य देशों के साथ क्षेत्रीय स्तर पर दक्षतापूर्ण और सुरक्षित परिवहन की व्यवस्था हो सकेगी। यह परियोजनाएं ए डी बी (एशियाई विकास बैंक) द्वारा वित्त पोषित की जा रही हैं।

निदेशक मंडल

nhaichairmansanjeevranjan

श्री संजीव रंजन

सचिव,
सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय

Sh. Nagendra Nath Sinha

श्री नागेन्द्र नाथ सिन्हा

प्रबंध निदेशक,
राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अवसंरचना विकास निगम लिमिटेड

श्री नागेन्द्र नाथ सिन्हा, भारतीय प्रशासनिक सेवा (भा.प्र.से.) (झारखंड-1987) ने राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अवसंरचना विकास निगम लिमिटेड, नई दिल्ली के प्रबंध निदेशक के रूप में 07 अगस्त, 2017 को कार्यभार ग्रहण किया । जोन्स होपकिन्स यूनिवर्सिटी से स्वास्थ्य विज्ञान में एमएससी एवं आईआईटी, कानपुर से इलेक्ट्रिकल में बी. टेक की उपाधि प्राप्त श्री नागेन्द्र नाथ सिन्हा इससे पूर्व झारखंड सरकार के ग्रामीण विकास विभाग में अपर मुख्य सचिव के रूप में कार्यरत थे जहां उन्होंने ग्रामीण निर्धनों को संगठित करने, स्थायी आजीविका और रोजगार के अवसरों का सृजन करने तथा राष्ट्रीय संसाधन प्रबंधन (एनआरएम) आधारित विकास करने में निर्णायक भूमिका निभाई ।

उन्होंने झारखंड राज्य में अन्य विभागों के साथ-साथ लोक निर्माण विभाग, खनन, उद्योग, सूचना प्रौद्योगिकी सहित कई प्रमुख विभागों में सेवा प्रदान की है। उनको झारखंड में रांची स्थित विशाल क्रीड़ा संकुल (स्पोर्ट्स काम्पलेक्स) एवं खेल गांव, रांची रिंग रोड, राज्य आधार सामग्री केन्द्र (डाटा सेन्टर) सहित अनेक युगांतरकारी परियोजनाओं का श्रेय जाता है । वह लोक निर्माण विभाग (लो.नि.वि.) कोड 2012, सार्वजनिक निजी साझेदारी नीति इत्यादि जैसी अनेक नीतियों और दस्तावेजों के विकास में भी मददगार रहे हैं ।

उनकी रुचि प्रमुख रूप से स्थायी विकास, सूचना प्रौद्योगिकी, अवसंरचना, स्वास्थ्य और संस्था निर्माण के क्षेत्रों में है ।

Director Sir

श्री सत्यब्रत साहू

निदेशक (प्रशासन एवं वित्‍त),
राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अवसंरचना विकास निगम लिमिटेड

श्री सत्यब्रत साहू, भा.प्र.से. (ओडिशा-1991) ने 28 मार्च 2018 को एनएचआईडीसीएल नई दिल्ली में निदेशक (प्रशासन एवं वित्त) के रूप में कार्यभार ग्रहण किया। वह भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रुड़की के भूतपूर्व छात्र हैं और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खड़गपुर से अप्लाइड जिओलजी में एम.टेक हैं।

ओडिशा राज्य से अपने कैरियर की शुरुआत करते हुए श्री साहू ने राज्य के विभिन्न  विभागों में सचिव सहित कई प्रमुख  पदों पर सेवा प्रदान की है। ओडिशा में अपनी 20 साल की सेवा के दौरान, उन्होंने राज्य में कृषि, परिवहन, ग्रामीण और शहरी विकास के क्षेत्र में उन्हें सौंपे गए विभिन्न कार्यों में एक निर्णायक भूमिका निभाई है। 2013 में पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय में संयुक्त सचिव के रूप में कार्यभार ग्रहण करने के बाद, उन्होंने राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम (एनआरडीडब्ल्यूपी) के कार्यान्वयन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जिसका उद्देश्य ग्रामीण भारत में प्रत्येक व्यक्ति को स्थाई आधार पर पीने, खाना बनाने और अन्य आधारभूत जरूरतों के लिए पर्याप्त रूप से सुरक्षित जल उपलब्ध कराना है।

एनएचआईडीसीएल में कंपनी के विकास को गति प्रदान करना और स्थायी संवर्ग (काडर) की स्थापना करना उनके लिए मुख्य चुनौती है । इसके अतिरिक्त, सार्वजनिक क्षेत्र में सूचना प्रौद्योगिकी (आई.टी.) पहलों के माध्यम से बेहतर पारदर्शिता लाना और एनएचआईडीसीएल की परियोजनाओं के समय पर कार्यान्वयन के लिए उपयोगी सेवाओं के स्थानांतरण, भूमि अर्जन और वन संबंधी अनुमति जैसी प्रमुख बाधाओं का प्रभावी समाधान करना उनका लक्ष्य है ।

संगठनात्मक संरचना

HQhindi